आप ने केंद्र सरकार को घेरा

दुष्कर्म मामला

आप ने केंद्र सरकार को घेरा

नई दिल्ली

कैब चालक द्वारा युवती के साथ बेरहमी से किए गए दुष्कर्म के मामले में आप पार्टी ने केंद्र सरकार व दिल्ली पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से सवाल किया कि सत्ता में आने के बाद वह इस निंदित घटना पर केवल दो पंक्ति बोल कर पल्ला झाड़ रहे हैं जबकि उन्हें सिस्टम में बरती जा रही लापरवाही स्वीकार करनी चाहिए। वहीं संजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी सवाल किया कि क्या लाल किले से महिला सुरक्षा के मुद्दे पर भाषण देने से ही सुरक्षित माहौल उपलब्ध हो जाएगा या फिर सरकार इसके लिए कोई ठोस कदम भी उठाएगी?

योगेंद्र यादव ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि निजाम बदलती है, लेकिन रवैया नहीं बदलता। वर्ष 2012 में जब दिल्ली के अंदर निर्भया कांड हुआ था तो केंद्र में यूपीए की सरकार थी। तब राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा था कि इस कांड के लिए केंद्र सरकार व गृहमंत्रालय भी जिम्मेदार है, जिसकी लापरवाही के चलते ऐसी घटना घटी है। दो वर्ष बाद जब वह गृहमंत्री हैं तो इस मुद्दे पर कोई जवाब नहीं दे पा रहे हैं। जब आप के सांसदों ने कुछ निर्दलीय सांसदोें के साथ मिलकर यह मुद्दा उठाया तो गृहमंत्री को मजबूरी वश इस संबंध में बयान देना पड़ा। लेकिन उन्होंने जो बयान दिया वह एसएचओ की रिपोर्ट से भी कम जानकारी वाला था।

योगेंद्र यादव ने कहा कि ऐसे मुद्दों पर राजनीति इसलिए जस्र्री हो जाती है क्योंकि बगैर राजनीतिक मुद्दे के कोई भी गंभीर नहीं होता। आप ने मांग की है कि इस मामले में न सिर्फ गंभीरता से जांच की जाए और पीड़िता को जल्द से जल्द इंसाफ दिलाया जाए, बल्कि यह भी पता लगाया जाए कि प्रशासन के तमाम दावों के बावजूद इस तरह की सनसनीखेज वारदात को कैसे अंजाम दिया गया? जो भी उच्च अधिकारी इस मामले में लापरवाह पाए जाते हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही दिल्ली पुलिस जनता को आश्वस्त करे कि भविष्य में इस तरह की घटना दोबारा नहीं होगी ताकि कोई भी महिला घर से बाहर खुद को असुरक्षित महसूस न करे।